Image default
JharkhandPoliticsSeraikela / Kharswan

अब झामुमो नेताओं के बीच से विधायक गायब, अलग अलग गुटों में बंटी ईचागढ़ झामुमो

सरायकेला – खरसवां : झामुमो में सबकुछ ठीक नहीं चल रही हैं। एक तरफ जहां मुख्यमंत्री चुनाव आयोग और राज्यपाल के बंद लिफाफे से परेशान हैं। वहीं, दूसरी ओर राज्य के अलग अलग विधानसभा क्षेत्रों में भी गुटबाजी बढ़ती जा रही हैं। ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र में यही स्थिति है कि यहां झामुमो अलग अलग गुटों में बंटी हुई हैं। जिस कार्यक्रम में विधायक सविता महतो पहुंच जाती हैं वहां विपक्षी दलों के नेताओं का न उपस्थित होना स्वाभाविक हो सकता है लेकिन इन दिनों विधायक के अपने झामुमो के नेताओं ने ही विधायक से दूरी बना लिया है।

किसी विधायक का क्षेत्र से गायब होना, क्षेत्र में चर्चा का विषय बन जाता है। लोग विधायक के कार्यशैली पर भी सवाल उठाने लगते है। इन दिनों ईचागढ़ विधानसभा में भी ऐसे ही देखने मिल रहा है, दरअसल ईचागढ़ विधायक सविता महतो क्षेत्र में तो भ्रमण कर रही है और कार्यक्रमों में भी शामिल हो रही है। लेकिन उन्हें उनकी पार्टी झामुमो ने गायब कर दिया है। जिससे कारण लोग कई तरह के सवाल उठा रहे है।

वर्तमान में त्यौहारों का सीजन चल रहा है, जनप्रतिनिधि विभिन्न माध्यम से आमलोगों को शुभकामनाएं भी दे रहे हैं। शुभकामनाएं देने की होड़ में कई ऐसे भी जनप्रतिनिधि एवं नेता है, जो अपने विधायक ही गायब कर दे रहे है। यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। चर्चा का केंद्र बिंदु एक पोस्टर बना हुआ है। जिस पोस्टर को सरायकेला जिला के नव निर्वाचित जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो ने कुकड़ू प्रखंड कार्यालय परिसर सहित जगहों में चशपाई है, वहीं इसके आलावे इस पोस्टर को कई सोशल साइट्स में भी पोस्ट किया गया है। इस पोस्टर में जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो ने सभी को काली पूजा, दीपावली, सोहराई, बांदना पर्व, नवाखानी की बधाई दी है। पोस्टर में झामुमो सुप्रीमों शिबू सोरेन, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, परिवहन सह कल्याण मंत्री चंपई सोरेन, झामुमो जिलाध्यक्ष शुभेन्दु महतो, जिला परिषद अध्यक्ष सोनाराम बोदरा एवं जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो के भैंसुर सुनील कुमार महतो का फोटो उक्त पोस्टर में मौजूद है। वहीं झामुमो पार्टी का चुनाव चिन्ह तीर-धनुष भी है। लेकिन क्षेत्र के विधायक सविता महतो का पोस्टर से फ़ोटो गायब है।

विधायक का पोस्टर से फ़ोटो गायब होना चर्चा का विषय बना हुआ है। चर्चा का विषय इसलिए भी ज्यादा भी बना हुआ है, क्योंकि उक्त पोस्टर को कुकड़ू प्रखंड कार्यालय के समीप भी लगाया गया है। पोस्टर में विधायक का फोटो क्यों गायब है, ये तो जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो ही बता सकती है। लोग यह भी चर्चा कर रहे है कि जिप उपाध्यक्ष मधुश्री महतो अपने भैंसुर सुनील कुमार महतो को ईचागढ़ से विधायक का चुनाव लड़वाने को लेकर प्रोजेक्ट कर रही है। इसलिए ईचागढ़ विधायक सविता महतो को अभी से ही दरकिनार कर चल रही है। हालांकि पिछले दिनों कई कार्यक्रमो में विधायक और जिला परिषद उपाध्यक्ष के बीच दूरी भी देखी गयी है।

Related posts

दीनबंधु स्मारक समिति के फुटबॉल प्रतियोगिता में यंग स्टार चोगा की टीम बनी विजेता व पहाड़धार उपविजेता

admin

कपाली : केंदडीह में होगी छह प्रहर अखंड हरिनाम संकीर्तन आयोजन

administrator

फाइलेरिया मुक्ति अभियान के साथ साथ जनप्रतिनिधि मुक्त कार्यक्रम! चांडिल में अफसरशाही हावी

admin

Leave a Comment