Image default
JharkhandPoliticsSeraikela / Kharswan

बैनर – पोस्टर में विधायक का फोटो नहीं तो झामुमो ने कहा जिप उपाध्यक्ष मधुश्री महतो व सुनील महतो पार्टी का सदस्य नहीं – सुनील महतो कोई आंदोलनकारी भी नहीं

सरायकेला – खरसवां : जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो द्वारा कुकडू प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न जगहों पर लगाए गए बैनर – पोस्टर में स्थानीय विधायक सविता महतो का फोटो और नाम नहीं होने से झामुमो कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया है। वहीं, झामुमो नेताओं ने दावा किया है कि झामुमो में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है, सबकुछ ठीक है।

दरअसल, जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो द्वारा कुकडू प्रखंड कार्यालय के समक्ष समेत अन्य जगहों पर बैनर – पोस्टर लगाए गए हैं। जिसमें वह जनता को काली पूजा, दीपावली, बांदना पर्व, सोहराय पर्व की शुभकामनाएं दी है। वहीं, बैनरों और सभी पोस्टर में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, झामुमो केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन, परिवहन एवं आदिवासी कल्याण मंत्री चंपई सोरेन, जिला परिषद अध्यक्ष सह झामुमो नेता सोनाराम बोदरा, झामुमो जिलाध्यक्ष शुभेंदु महतो तथा जिप उपाध्यक्ष मधुश्री महतो के भैंसुर सुनील महतो का फोटो लगाया गया है। जबकि निवेदक के रूप में स्वयं जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो हैं।

इन बैनरों और पोस्टर को लेकर झामुमो के अंदरखाने में बवाल मचा हुआ है। बीते कुछ दिनों से यह मामला चर्चा में है। वहीं, कल Jharkhand Newz द्वारा खबर प्रकाशित होने के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गई हैं। खबर प्रकाशित होने के बाद स्वाभाविक तौर पर झामुमो नेताओं के बीच विरोध जताने एवं अपना पक्ष रखने को लेकर रणनीति बनी होगी और रविवार को प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से झामुमो नेताओं ने स्पष्ट रूप से कहा है कि जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो और उनके भैंसुर सुनील महतो झामुमो का सदस्य नहीं है। वहीं, यह भी कहा गया कि सुनील महतो आंदोलनकारी भी नहीं है। सुनील महतो किसी भी आंदोलन में शामिल नहीं रहा, उसके खिलाफ एक भी मामला दर्ज नहीं है और न वह कभी जेल गया था। कहा गया है कि यदि सुनील महतो झामुमो का टिकट लेकर विधानसभा चुनाव लड़ने का सपना देख रहे तो वह भूल जाएं।

सुनील महतो झामुमो का सदस्य नहीं और न कोई आंदोलनकारी, उसका उतना औकात नहीं कि झामुमो से टिकट मिलेगा

रविवार को झामुमो द्वारा आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कुकडू प्रखंड के बीस सूत्री अध्यक्ष शक्तिपद महतो ने कहा कि कुकडू में जो पोस्टर लगाया गया है, जिसमें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, शिबू सोरेन, मंत्री चंपई सोरेन, जिलाध्यक्ष शुभेंदु महतो का नाम और फोटो लगाया गया है। लेकिन उस पोस्टर में स्थानीय विधायक सविता महतो का नाम और फोटो नहीं होने से कुकडू प्रखंड के सभी झामुमो कार्यकर्ता नाराज हैं। जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो और सुनील महतो द्वारा लगाए गए पोस्टर से सभी झामुमो कार्यकर्ता नाराज हैं। शक्तिपद महतो ने कहा कि सुनील महतो झामुमो का सदस्य नहीं है और न किसी भी पार्टी का सदस्य हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि सुनील महतो सभी दलों के साथ रहता है। सुनील महतो हमेशा उलूल जुलूल काम करता है।

शक्तिपद महतो ने जानकारी दी कि झामुमो जिला कमिटी और विधायक को सुनील महतो के खिलाफ लिखित शिकायत किया गया है और कानूनी कार्यवाही की मांग की गई हैं। शक्तिपद महतो ने कहा कि सुनील महतो आंदोलनकारी भी नहीं है, उसके खिलाफ किसी भी आंदोलन का मामला दर्ज नहीं है और न कभी जेल गया है। उन्होंने कहा कि सुनील महतो झामुमो का टिकट लेकर चुनाव लड़ने का सपना देख रहा है जो कभी संभव नहीं है। उसका उतना औकात नहीं है कि उसे झामुमो से टिकट दिया जाएगा और वह चुनाव लड़ेगा। शक्तिपद महतो ने कहा कि विधायक सविता महतो को ही झामुमो से टिकट मिलेगा और वह चुनाव लड़ेगी।

जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो झामुमो सदस्य नहीं, किसके आदेश पर झामुमो का बैनर – पोस्टर लगवाया

प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद कुकडू प्रखंड अध्यक्ष इंद्रजीत महतो ने कहा कि बैनर – पोस्टर को लेकर पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है। जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो झामुमो का सदस्य ही नहीं है। लेकिन मधुश्री महतो द्वारा झामुमो का नाम चुनाव चिन्ह और झामुमो के नेताओं का फोटो उपयोग कर अपने स्तर से बैनर पोस्टर लगाना गलत है। कुछ लोग विधायक के विरुद्ध काम कर रहे हैं लेकिन जनता विधायक सविता महतो के साथ है। इंद्रजीत महतो ने कहा कि ईचागढ़ विधानसभा से सुनील महतो को टिकट मिलना संभव नहीं है, यहां केवल सविता महतो को ही टिकट मिलेगा। निर्मल महतो के परिवार को छोड़कर अन्य किसी को टिकट नहीं मिलेगा।

झामुमो में कोई गुटबाजी नहीं -सबकुछ ठीक

कुकडू प्रखंड सचिव नवकिशोर हांसदा ने कहा कि हमारे यहां झामुमो में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है, सबकुछ ठीक है। लेकिन पोस्टर में स्थानीय विधायक सविता महतो का फोटो और नाम नहीं दिए जाने से कार्यकर्ता दुखी हैं। जिला परिषद उपाध्यक्ष मधुश्री महतो को इसका जबाव देना चाहिए कि उन्होंने किसके आदेश से झामुमो का पोस्टर लगाया है और उसमें स्थानीय विधायक का फोटो क्यों नहीं है।

Related posts

चांडिल : बिंदु चंदन पूजा में हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन, सम्मिलित हुई प्रमुख अमला मुर्मु

admin

निकाय चुनाव में ओबीसी आरक्षण से वंचित, सरकार है जिम्मेदार : सुदेश कुमार महतो

admin

रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर प्रखंडवार महिला प्रभारियों की हुई नियुक्ति – उपचुनाव की तैयारियों को लेकर सभी प्रभारी करेंगे ग्राम संवाद का नेतृत्व

administrator

Leave a Comment