Image default
Jharkhand

कल से अनशन पर राज्य के पारा मेडिकल कर्मचारी, रांची व धनबाद में आयोजित किया रक्तदान शिविर

रांची : झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी संघ और झारखंड राज्य एनआरएचएम एएनएम जीएनएम संघ के संयुक्त तत्वाधान में राज्य के समस्त पारा मेडिकल कर्मचारियों का हड़ताल जारी है। चिंतनीय विषय है कि राज्य के सरकारी अस्पतालों में सेवा देने वाले एएनएम, जीएनएम, लैब तकनीशियन, एक्सरे तकनीशियन, फार्मासिस्ट, ओपथाल्मीक असिस्टेंट, फिजियोथैरेपी आदि ने काम ठप कर हड़ताल पर है। ऐसे में राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की हालत गंभीर है। इसके बावजूद अबतक राज्य सरकार की ओर से किसी तरह की पहल नहीं हुई हैं।

पारा मेडिकल कर्मचारी अपने नियमितीकरण की मांग पर गत 16 जनवरी को मुख्यमंत्री आवास घेराव के बाद से लगातार हड़ताल पर है। हड़ताल पर हैं। कल अनुबंध कर्मियों ने राज्य सरकार के खिलाफ विरोध जताते हुए मानव श्रृंखला आयोजन किया। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का आवास घेराव किया था।आज स्वास्थ्य कर्मियों ने रांची तथा धनबाद में रक्तदान शिविर आयोजित किया। वहीं, कल 24 जनवरी से आमरण अनशन पर जाने की तैयारी है। झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी संघ के संयुक्त सचिव संतोष कुमार ने कहा कि मानव सेवा के प्रति अपना कर्तव्य निभाते हुए आज रांची स्थित धरना स्थल तथा जिला धनबाद में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। करीब 34 यूनिट रक्त संग्रह किया गया। उन्होंने कहा कि अब तक विभाग द्वारा और ना ही सरकार के तरफ से किसी प्रकार की कोई सफल वार्ता हुई है। इसके बाद पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार दिनांक 24 जनवरी से अनुबंध कर्मी आमरण अनशन शुरू करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो रही है। जिसका खामियाजा मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में और जिला स्तरीय संस्थानों में देखा जा रहा है। संतोष कुमार ने बताया कि टीकाकरण, प्रसव, लैब, फार्मेसी आदि कार्यों पर प्रभाव पड़ रहा है। परंतु सरकार सदर अस्पतालों में अन्य क्षेत्रों के कर्मियों को बुलाकर कार्य करा रही है। वहीं, दिखाने का प्रयास कर रही है कि हमारा सिस्टम पूरी तरह से चल रहा है। यह सरकार की विडंबना है कि अब तक सरकार सड़क पर आए कर्मियों की सुध लेने के बजाय अपनी उपलब्धि गिनाने में लगी हुई है।उन्होंने कहा कि आज धरना के सातवें दिन भी अधिक से अधिक संख्या में लोग धरना स्थल पर पहुंचे हुए हैं। हमारी एक ही मांग है कि अनुबंध कर्मियों को 2014 नियमावली के आधार पर सीधा नियमितीकरण किया जाए।

Related posts

सीएम हेमंत सोरेन पत्नी कल्पना संग अमृतसर स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका

admin

सरायकेला : डीसी व एसपी ने गणतंत्र दिवस परेड के रिहर्सल का निरीक्षण किया

administrator

पूर्व विधायक तथा झारखंड भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने दिव्यांग को भेंट किया अत्याधुनिक व्हील चेयर, व्हील चेयर पाकर खिल उठे चेहरे

administrator

Leave a Comment