Image default
CrimeJharkhandSeraikela / Kharswan

जान देकर साबित किया वफादारी – मछली रखवाली करने वाले की हत्या करने वाला हुआ गिरफ्तार

सरायकेला – खरसवां : आज के इस कलियुग में भी लोगों में वफादारी है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जिसमें एक कर्मचारी ने अपनी जान देकर अपनी वफादारी को साबित की और समाज में मिसाल पेश किया है। भले ही वह कर्मचारी अब इस दुनिया में नहीं रहा लेकिन लोगों की जुबां पर उसकी चर्चा है। वहीं, कर्मचारी का मालिक भी हकीकत जानकर भावुक हो गया है।


सरायकेला – खरसवां जिले के नीमडीह थाना क्षेत्र के नक्सल प्रभावित चालियामा में बुधवार रात को गांव के ही शिवचरण सिंह की पत्थर से कूचकर तथा लाठी डंडे से मारकर हत्या कर दी गई थी। शिवचरण सिंह गांव के ही किसान धीरेन सिंह के यहां काम करता था। मृतक शिवचरण सिंह, धीरेन सिंह के खेती बाड़ी में सहयोग करता था, वहीं रात को उसके तालाब की रखवाली करता था। शिवचरण सिंह तालाब से मछली चोरी की रखवाली करता था।

बुधवार रात को गांव के ही लखीराम सिंह तालाब से मछली चोरी करने का प्रयास कर रहा था। जिसपर मृतक शिवचरण सिंह ने मना किया था। इसी बात पर लखीराम सिंह ने पत्थर से कुचकर शिवचरण सिंह उर्फ शिवा की हत्या कर दी थी। अगले दिन गुरुवार सुबह मृतक शिवचरण सिंह का शव तालाब किनारे से बरामद की गई थी।

पुलिस ने हत्या के मामले को 24 घंटे के भीतर सुलझा लिया है। शुक्रवार को चांडिल एसडीपीओ संजय सिंह ने आयोजित प्रेस वार्ता में शिवचरण सिंह हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया की नीमडीह थाना क्षेत्र के चालियामा निवासी लखीराम सिंह ने तालाब से मछली चोरी करने के नियत से सबसे पहले तालाब में मौजूद मछली का पहरेदारी कर रहे शिवचरण सिंह को शराब पिलाई तथा मछली चोरी करने में साथ देने का दबाव बनाया। जिसका शिवचरण सिंह ने विरोध किया। जिसके बाद लखीराम सिंह ने लाठी डंडे से पीटकर तथा पत्थर से कुचकर शिवचरण सिंह की हत्या कर दी। इस प्रकार मृतक शिवचरण सिंह ने अपनी जान दे दी, लेकिन लखीराम सिंहः को मछली चोरी करने नहीं दिया और न ही उसके चोरी के प्रयास में सहयोग किया। पुलिस ने आरोपी लखीराम सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

रुपये व मोबाइल लूट के दो आरोपी भी गिरफ्तार

नीमडीह थाना क्षेत्र के एक अन्य मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बताया गया कि 12 अक्टूबर को नीमडीह थाना के केतुंगा में ट्रेक्टर चालक निर्मल महतो से नगद साढ़े ग्यारह सौ रुपया एवं मोबाइल लूटने के आरोप में पुलिस ने नीमडीह थाना क्षेत्र के आदरडीह के प्रशांत दास और सपन दास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं, लूटी गई नगद साढ़े सात सौ रुपया तथा लूट में प्रयुक्त बाइक को बरामद कर लिया। एसडीपीओ संजय सिंह ने बताया की सपन दास इसके पहले भी चोरी के एक मामले में जेल जा चुका है। प्रेसवार्ता में इंस्पेक्टर पास्कल टोप्पो, नीमडीह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता भी मौजूद थे।

Related posts

गिरिडीह:- क्लीनिक संचालक से रंगदारी मांगने के आरोप में दो गिरफ्तार

administrator

16 अक्टूबर को अखिल झारखण्ड महिला संघ का राज्य के सभी जिलों में जिला सम्मेलन

admin

चांडिल : डैम का जलस्तर बढ़ाने पर सरकार के विरोध में विस्थापित करेंगे अनिश्चितकालीन जल सत्याग्रह

admin

Leave a Comment