Image default
JharkhandPoliticsRanchi

संवैधानिक संस्थाओं का सम्मान करे सरकार – स्थानीय नीति ही बने नियोजन का आधार : सुदेश कुमार महतो

रांची : झारखंड सरकार द्वारा नगर निकाय चुनाव में ओबीसी के लिए आरक्षित सीटों को अनारक्षित करने के विरोध में आजसू पार्टी आगामी 17 नवंबर को राज्यव्यापी आंदोलन करेगी तथा सभी जिला मुख्यालय में एकदिवसीय धरना प्रदर्शन करेगी। ज्ञात हो कि इसी वर्ष हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी राज्य सरकार ने पिछड़ा आरक्षण को खत्म कर दिया था। झारखंड के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ। पिछड़ों के प्रति सरकार की संवेदनहीनता के विरोध में आजसू पार्टी लगातार मुखर रही है और इसी क्रम में राज्यव्यापी आंदोलन का निर्णय लिया गया।

उक्त निर्णय आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो की अध्यक्षता में रांची स्थित केंद्रीय कार्यालय में सभी विधानसभा प्रभारी तथा जिला प्रभारी के साथ हुई बैठक में लिया गया। बैठक में आजसू पार्टी द्वारा किए गए कार्यक्रमों की समीक्षा की गई तथा भावी कार्यक्रमों की रुपरेखा तथा तारीख भी सुनिश्चित किया गया।

नगर निकाय चुनाव में ओबीसी आरक्षण खत्म करने के विरोध में 17 नवंबर को आजसू पार्टी का राज्यव्यापी आंदोलन

बताया गया कि आगामी 07 नवंबर को सभी जिला में आजसू पार्टी जिला कार्यसमिति की बैठक आयोजित की जाएगी तथा 18 नवंबर को आजसू पार्टी केंद्रीय कमिटी की बैठक होगी। बैठक के दौरान आजसू पार्टी की सहयोगी इकाई के राज्यस्तरीय सम्मेलन को लेकर भी निर्णय लिया गया।

जिसमें अखिल झारखण्ड श्रमिक संघ का राज्यस्तरीय सम्मेलन 20 नवंबर को बेरमो में, अखिल झारखण्ड बुद्धिजीवी मंच का राज्यस्तरीय सम्मेलन 27 नवंबर को रांची में तथा अखिल झारखण्ड महिला संघ का राज्यस्तरीय सम्मेलन 04 दिसंबर को कोनार डैम क्षेत्र, मांडू में मुख्य रुप से शामिल है। बैठक के दौरान केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने आजसू पार्टी की सभी अनुषंगी इकाइयों के गठन, पुनर्गठन एवं विस्तार कार्य को 30 दिसंबर तक पूर्ण करने निर्देश दिया।

बैठक के दौरान सुदेश कुमार महतो ने कहा कि स्थानीयता का निर्धारण ही नियोजन का आधार बने। खतियान आधारित स्थानीय नीति लागू करने के लिए आजसू पार्टी ने सबसे ज्यादा और सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष किया। कहा कि दुःख यह है कि सरकार के सेहत पर जब भी संकट आता है, तब-तब इन्हें स्थानीयता की याद आती है। सरकार अगर सही नियत से स्थानीय नीति का निर्धारण करती है, तो आजसू पार्टी इसका स्वागत करेगी। साथ ही उन्होंने सरकार से संवैधानिक संस्थाओं का सम्मान करने की बात भी कही।

बैठक में मुख्य रुप से आजसू पार्टी के प्रधान महासचिव रामचंद्र सहिस, केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, केंद्रीय उपाध्यक्ष रोशन लाल चौधरी, उमाकांत रजक, हसन अंसारी, सपन सिंह देव तथा कुशवाहा शिवपूजन मेहता, केंद्रीय सचिव हरेलाल महतो, केंद्रीय मुख्य प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत, केंद्रीय प्रवक्ता मनोज सिंह, विधानसभा प्रभारी नीरू शांति भगत, शालिनी गुप्ता, यशोदा देवी, नंदलाल बिरुआ, रामदुर्लभ सिंह मुंडा, अनूप पांडेय, तिवारी महतो, रामधन बेदिया, अर्जुन बैठा, भरत कांशी साहू, वर्षा गाड़ी, जिला प्रभारी रविशंकर मौर्या, गोपीनाथ सिंह, लाल गुड्डू नाथ शाहदेव, अनुशासन समिति प्रमुख सुबोध प्रसाद, कार्यकारी जिलाध्यक्ष फणीभूषण महतो सहित सभी विधानसभा एवं जिला के प्रभारी मौजूद थे।

Related posts

चांडिल : चांदूडीह में विभिन्न दलों के कार्यकर्ताओं ने ली आजसू की सदस्यता

admin

रांची में चल रही सीरीज में भारत को जीत के लिए बनाने होंगे 279 रन

admin

गम्हरिया के बिकी स्टील कंपनी में ठेकेदार प्रीति इंटरप्राइजेज का बोलबाला – मजदूरों का जमकर हो रहा शोषण, कौन है प्रीति इंटरप्राइजेज का मालिक?

admin

Leave a Comment