Image default
Jharkhand

चांडिल : साधु बांध मठिया आश्रम में आठ दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का होगा आयोजन, संचालन के लिए बनी समिति

सरायकेला – खरसवां : जिले के चांडिल स्थित प्रसिद्ध साधु बांध मठिया आश्रम परिसर में आगामी एक फरवरी से आठ फरवरी तक श्रीमद्भागवत सत्संग कथा आयोजित किया गया है।

जहां वृंदावन के कथावाचक अनुपानंद महाराज द्वारा श्रीमद्भागवत कथा पाठ किया जाएगा। कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए आज मठिया आश्रम में बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता मठिया के महंत इंद्रानंद सरस्वती ने किया। इस दौरान कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु रणनीति बनाई गई। वहीं, संचालन कमिटी का गठन किया गया। इस अवसर पर संचालन समिति का नाम सार्वजनिक सत्संग समिति, चांडिल रखा गया। समिति में सर्वसम्मति से मुख्य संरक्षक के पद पर महंत इन्द्रानंद सरस्वती और राकेश वर्मा को मनोनीत किया गया, साथ ही संरक्षक पद पर बोनु सिंह सरदार, मनोहर सिंह, मंगल माझी, रामू महतो, सर्दिप नायक, मनोज सिंह, महेश कुंडू, विशाल चौधरी, खगेन महतो को मनोनीत किया गया।

मनोज वर्मा को अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पद के लिए राजू दत्ता, शेखर चौधरी, श्रवण महतो, क्लोसोना महतो, नंदलाल गोस्वामी, मधु बनर्जी, अमित साव, अपीन कालिंदी का चयन किया गया है। महासचिव पद के लिए चंदन वर्मा और सचिव के लिए आकाश महतो, भास्कर मिश्रा, राजू सिंह, दुर्गा प्रसाद सिंह, राहुल वर्मा, सत्यनारायण पाल को चुना गया है। कोषाध्यक्ष पद के लिए अनंतो अड्डे और सह सचिव पद के लिए परमानंद पसारी, गप्पू जालान, बंसी कुंडू, सोनू श्रीवास्तव, शशि मिश्रा को चुना गया और संयोजक मंडली में शिबू चटर्जी, सनातन गोराई, महेन्द्र पोद्दार, साहेब सिंह, आकाश दास, कुंज बिहारी गोप को चुना गया।

कार्यक्रम स्थल प्रभारी के रूप में अनिता पारित तथा नंदिता चक्रवर्ती को बनाया गया। पूजा मण्डली के लिए विपत्तरण पांडे, भास्कर मिश्रा, नंदलाल दास को चुना गया।इस अवसर पर समिति के मुख्य संरक्षक राकेश वर्मा ने कहा कि संसार के सभी प्राणी सुख की कामना रखते हैं। लेकिन अविनाशी सुख की उपलब्धि आध्यत्मिकता के अभाव में संभव नही है। महापुरुषों का यह अकाट्य विचार है कि जब तक किसी देश, राज्य व क्षेत्र का आध्यात्मिक स्तर उत्तम और उच्च नही होगा जब तब तक उस देश की सदाचारिता ऊंची और उत्तम नही होगी। तब तक सामाजिक नीति अच्छी नहीं होगी। तब तक रणनीति अच्छी और शांतिदायक नही होगी। सामाजिक नीति के कारण राजनीति शासन संभालने के योग्य हो ही नही सकेगी और उस देश में अशांति फैली रहेगी। इसी दृष्टिकोण से इस सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा वचन का आयोजन किया जा रहा है। इस पावन अवसर पर सभी सनातनधर्मी लोग, महान, संत, साधु- महात्मा उपस्थित होकर हमसभी को लाभान्वित करें।

Related posts

चांडिल : एसपी आंनद प्रकाश ने मिनी शराब फैक्टरी का किया निरीक्षण, कहा – शराब माफियाओं को उखाड़ फेंका जाएगा

admin

‘आपकी योजना – आपकी सरकार – आपके द्वार’ में कल्याणकारी योजनाओं का ऑन द स्पॉट दिया गया लाभ

admin

अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर बैठे विस्थापितों पर चढ़ा ट्रैक्टर, दर्जनभर हुए घायल, घायलों को आजसू नेता हरेलाल महतो ने टीएमएच में कराया भर्ती

admin

Leave a Comment