Image default
JharkhandSeraikela / KharswanSpecial

चांडिल : श्रीमद्भागवत कथा के अंतिम दिन हुआ सुदामा – कृष्ण संवाद व ब्रज की होली, भावविभोर हुए श्रद्धालु, हजारों श्रद्धालुओं में वितरित किया गया भागवत गीता

सरायकेला – खरसवां : जिले के चांडिल स्थित साधु बांध मठिया आश्रम में आज आठ दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह ज्ञान यज्ञ संपन्न हुआ। आज अंतिम दिन श्रद्धालुओं की अप्रत्याशित भीड़ जुटी। संभवतः पहली बार चांडिल में इस तरह का भव्य धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन हुआ है, जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। यहां वृंदावन से आए हुए कथावाचक अनुपानंद महाराज द्वारा आठ दिन तक श्रीमद्भागवत कथा पाठ किया गया। वहीं, कल भंडारा का आयोजन किया गया है।

कार्यक्रम में अंतिम दिन आज सुदामा – कृष्ण मिलन संवाद और ब्रज की होली का आयोजन हुआ। कथावाचक अनुपानंद महाराज ने भागवत कथा को सुनाया तथा इसके उपयोगिता पर प्रकाश डाला। इस दौरान सुदामा व श्रीकृष्ण के मिलन का उल्लेख संगीतमय वातावरण में किया। सुदामा व श्रीकृष्ण के मिलन तथा उन दोनों के संवाद का उल्लेख किया। इस अवसर पर बालिकाओं और बालकों ने श्रीकृष्ण, रुक्मिणी, सुदामा, द्वारपाल आदि वेशभूषा तथा श्रृंगार में अभिनय किया। कार्यक्रम स्थल अत्यंत भक्तिमय होने के चलते श्रद्धालुओं ने श्रीकृष्ण के रूप में सजी बालिका को नमन किया। वहीं, सुदामा को भिक्षा मांगने के दौरान श्रद्धालुओं ने प्रफुल्लित होकर भिक्षा दान किया।

समापन अवसर पर ब्रज की होली का आयोजन किया गया। इसमें कथावाचक अनुपानंद महाराज ने श्रीकृष्ण द्वारा गोपियों संग होली खेलने और प्रभु के नटखटपन का उल्लेख किया। ब्रज की होली के संगीत में श्रद्धालु भी झूम उठे। इस दौरान मठिया आश्रम राधे – राधे, जय श्रीकृष्ण, जय सियाराम के जयकारों से गुंजामय रहा।

हजारों श्रद्धालुओं को दी गई भागवत गीता, बुधवार को भंडारा

आठ दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के अंतिम दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। इस अवसर पर आयोजन समिति के संरक्षक तथा सेवा ही संकल्प है कि संस्थापक राकेश वर्मा के सौजन्य से श्रद्धालुओं के बीच भागवत गीता पुस्तक का वितरण किया गया। श्रद्धालुओं के बीच निशुल्क गीता वितरण किया गया। इस अवसर पर राकेश वर्मा ने कहा कि इस आठ दिवसीय श्रीमद भागवत कथा पाठ में हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित हुए और भागवत कथा रसपान किया। उन्होंने कहा कि भागवत गीता सनातनियों की पहचान है, इस पहचान को संरक्षित रखने के उद्देश्य से हजारों श्रद्धालुओं को निशुल्क गीता दिया गया। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के बाद भी उनसे संपर्क कर इच्छुक लोग भागवत गीता की पुस्तक प्राप्त कर सकते हैं। राकेश वर्मा ने बताया कि बुधवार को मठिया आश्रम परिसर में ही भंडारा का आयोजन किया गया है। दोपहर एक बजे देर रात तक भंडारा चलेगी।

Related posts

आपकी सरकार – आपके द्वारा कार्यक्रम का हाल, आम जनता भटके पानी के लिए, सरकारी बाबुओं के लिए सीलबंद बोतल

admin

धनबाद के अस्पताल में आगलगी की घटना पर स्वास्थ्य मंत्री दुख जताया

administrator

इनामी नक्सली मिथिलेश सिंह उर्फ दुर्योधन महतो ने किया सरेंडर

administrator

Leave a Comment