Image default
Seraikela / Kharswan

चांडिल : डैम का जलस्तर बढ़ाने पर सरकार के विरोध में विस्थापित करेंगे अनिश्चितकालीन जल सत्याग्रह

सरायकेला – खरसवां। (विश्वरूप पांडा) अखिल झारखंड विस्थापित अधिकार मंच ने चांडिल डैम के बढ़ते जलस्तर को लेकर विरोध जताया है। विस्थापितों की मांग है कि चांडिल डैम का जलस्तर 177 मीटर आरएल रखा जाय। यदि डैम का जलस्तर बढ़ाया जाएगा तो विस्थापित अब विस्थापित अनिश्चितकालीन जल सत्याग्रह करेंगे।

अनूप महतो ने कहा कि मंच द्वारा विगत 16 जून से दस सूत्री मांगों के समर्थन में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। उन दस मांगों में एक मांग यह भी है कि जब तक विस्थापितों को संपूर्ण मुआवजा, नौकरी, पुनर्वास, पुनर्वास जमीन का पट्टा उपलब्ध नहीं कराया जाता है तब तक डैम का जलस्तर 177 मीटर आरएल ही रखा जाय। परंतु गत दो दिन से हो रही बारिश तथा डैम का फाटक नहीं खोले जाने से डैम का जलस्तर बढ़ने लगी हैं। यदि विभाग एवं सरकार हमारी मांग को अनसुना कर देती हैं तो हजारों की संख्या में विस्थापितों द्वारा जल सत्याग्रह आंदोलन किया जाएगा।

मंच के केंद्रीय प्रवक्ता अनूप महतो ने विभाग की कड़ी निंदा करते हुए कहा 31 जुलाई की रात से बंगाल की खाड़ी एवं झारखंड में भारी बारिश होने के कारण सुवर्णरेखा, सोभा, कडरू, साखा, कोरकोरी आदि नदियों के बाढ़ का पानी चांडिल बांध में प्रवेश होने के कारण बांध का जलस्तर 179RL से ऊपर होने को आ गई है, जिसके चलते विस्थापित गांव में जान माल की क्षति होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि जलस्तर बढ़ने की आशंका से विस्थापित परिवार डरे सहमे हैं लेकिन अभी तक विभाग ने संज्ञान नहीं ली है और ना ही चांडिल बांध का अभी तक एक भी RL गेट को खोला गया है। अगर इसी तरह विभाग का रवैया बना रहा तो जल्द 84 मौजा एवं 116 गांव के विस्थापित अनिश्चितकालीन जल सत्याग्रह करने में बाध्य होंगे।

बुधवार को अखिल झारखंड विस्थापित अधिकार मंच के केंद्रीय अध्यक्ष राकेश रंजन महतो एवं केंद्रीय प्रवक्ता अनूप महतो ने चांडिल डैम का जल भंडारण 177 RL के नीचे रखने हेतु रेडियल गेट खुलवाने तथा रेडियल गेट ना खोलने की स्थिति में अनिश्चितकालीन जल सत्याग्रह करने संबंधी ज्ञापन अनुमंडल पदाधिकारी चांडिल, कार्यपालक अभियंता केंद्रीय भंडारा एवं शिविर प्रमंडल चांडिल, पुनर्वास पदाधिकारी चांडिल बांध संख्या -2, कार्यपालक अभियंता सुवर्णरेखा बांध प्रमंडल संख्या-2 चांडिल को सौंपा। वहीं, विशेष भू अर्जन पदाधिकारी स्वर्णरेखा परियोजना चांडिल, कार्यपालक अभियंता यंत्रीक प्रमंडल चांडिल को भी ज्ञापन सौंपने की बात कही।

Related posts

चांडिल : पिस्तौल की नोक पर युवतियों के साथ छेड़खानी कर रहा था हजारीबाग का युवक, पुलिस के हत्थे चढ़ा दो युवक

admin

बस का पहिया खुलकर व्यक्ति को मारा धक्का, हुई मौत

admin

युवाओं का प्रयास लाया रंग, चौका क्षेत्र को मिली एम्बुलेंस

admin

Leave a Comment