Image default
JharkhandPoliticsSeraikela / Kharswan

रेलवे अंडरपास शिलान्यास में भाजपा/झामुमो किचकिच

सरकारी कार्यक्रम में नारेबाजी कर गलत परंपरा की हुई शुरुआत

चांडिल। आज चक्रधरपुर रेलवे डिवीजन के चांडिल में एक रेल अंडरपास का शिलान्यास हुआ। यहां सांसद संजय सेठ और विधायक सविता महतो ने विधिवत शिलान्यास किया। इस शिलान्यास कार्यक्रम में भाजपा और झामुमो में किचकिच खूब किचकिच हुई।

निर्धारित समय से पहले ही सांसद संजय सेठ पहुंचे थे लेकिन विधायक नहीं पहुंची थी। इसको देखते हुए सांसद भोजन के लिए चले गए। भोजन के लिए गए सांसद के बाद ही विधायक और झामुमो कार्यकर्ता कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। यहां कार्यक्रम स्थल पर बने मंच और पंडाल को देख झामुमो कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताई और कार्यक्रम में शामिल होने से मना कर दिया। विधायक और झामुमो कार्यकर्ताओं का कहना था कि मंच पर जो कपड़े लगे हुए हैं वह भाजपा के हैं, इसलिए वे मंच पर नहीं जाएंगे।

बताया जा रहा है कि एक झामुमो कार्यकर्ता ने ही यह खोंच शुरू की। वहीं, विधायक पर कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का दबाव बनाया। जिसके बाद सभी कार्यक्रम स्थल से थोड़ी दूर शिलापट्ट के समीप खड़े हो गए। जबकि, मंच के डिजाइन या कपड़ों में ऐसा कुछ भी नहीं था, जिसको लेकर झामुमो वालों ने बखेड़ा खड़ा कर दिया।

झामुमो व भाजपा वालों की नारेबाजी

करीब आधे घंटे बाद सांसद संजय सेठ पहुंचे औ मंच के नीचे खड़े होकर भाजपा कार्यकर्ताओं से बातचीत की। इस दौरान उन्हें जानकारी मिली कि झामुमो वाले मंच पर लगे कपड़ों के रंग पर विरोध जता रहे हैं। सांसद ने भाजपा कार्यकर्ताओं को अनुरोध करते हुए विधायक को मंच पर लाने के लिए कहा। भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा विधायक सविता महतो से आग्रह किया गया, लेकिन वह नहीं मानी। इसके बाद कुछ समय के लिए मंच पर सांसद संजय सेठ बैठे रहे, फिर वह स्वयं शिलान्यास स्थल पहुंचे और विधायक सविता महतो से आग्रह किया। इसके बावजूद विधायक ने मंच पर जाने से इंकार किया। इसके बाद सांसद ने कहा कि मंच पर नहीं, शिलान्यास में तो साथ आ ही सकते हैं। तब जाकर दोनों ने अंडरपास निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।

यहां शिलान्यास के दौरान झामुमो कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी, जो गलत परंपरा की शुरुआत है। यहां झामुमो वालों ने शिबू सोरेन जिंदाबाद, हेमंत सोरेन जिंदाबाद, सविता महतो जिंदाबाद के नारे लगाए। झामुमो वालों को नारेबाजी करते देख भाजपा वाले भी कहाँ रुकने वाले थे। भाजपाइयों ने जमकर नारेबाजी कर दी। भाजपा वालों ने भी नरेंद्र मोदी जिंदाबाद, संजय सेठ जिंदाबाद, जय भाजपा के नारे लगा दिए।

क्या भाजपा सांसद झारखंड सरकार के हरे रंग वाले कपड़ों से बने पंडाल के कार्यक्रम में नहीं जाते हैं?

झामुमो विधायक सविता महतो और झामुमो कार्यकर्ता द्वारा रेलवे के कार्यक्रम पर आपत्ति जताई गई। आपत्ति का कारण यही था कि मंच पर भगवा कपड़ा लगाया गया था। ऐसे में भाजपा और झामुमो वालों से एक ही सवाल है कि जब झामुमो नेतृत्व की झारखंड सरकार द्वारा सरकारी कार्यक्रम आयोजित कर हरे रंग के कपड़ों से पंडाल बनाए जाते हैं तो उनमें भाजपा सांसद संजय सेठ शामिल होते हैं अथवा नहीं?

यहां शिलान्यास के बाद सांसद ने अपने भाषण में कहा कि यहां झामुमो को रंग में भी राजनीति दिखती हैं इसलिए वे विरोध जताकर चले गए। सांसद ने कहा कि जब झारखंड सरकार द्वारा कार्यक्रम आयोजित किया जाता है और उन्हें आमंत्रित किया जाता है तो वह कार्यक्रम में शामिल होते हैं। लेकिन वह यह नहीं देखते हैं कि मंच पर किस रंग के कपड़े लगाए गए हैं। सांसद ने कहा कि जहां देश और राज्य के विकास बात होती हैं, वहां मंच के रंग मायने नहीं रखते हैं।

Related posts

चांडिल : प्रमुख चुनाव को स्थगित करने की मांग, पूर्व प्रमुख ने कहा – सीएम हेमंत की भाभी विधायक सीता सोरेन समेत कई महिला जनप्रतिनिधि भी ओडिशा व बंगाल की बेटी

admin

जमशेदपुर : हत्या की योजना बना रहे तीन बदमाश गिरफ्तार

admin

नीमडीह : पत्नी को पानी में डुबोकर हत्या करने वाला पति गया जेल, तीन महीने पूर्व हुई थी प्रेम विवाह

admin

Leave a Comment