Image default
Jharkhand

12 जनवरी को अखिल झारखंड छात्र संघ (आजसू) का युवा आक्रोश मार्च

रांची। आजसू पार्टी की सहयोगी इकाई अखिल झारखंड छात्र संघ नौजवानों के प्रणेता तथा महान समाज सुधारक स्वामी विवेकानंद की जयंती तथा राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर युवा आक्रोश मार्च निकालेगी। इस दौरान अखिल झारखंड छात्र संघ के सभी प्रदेशस्तरीय पदाधिकारी, कार्यकर्ता तथा झारखंड के नौजवान विधानसभा मैदान से मोराबादी बापू वाटिका तक पैदल मार्च कर युवा विरोधी सरकार के खिलाफ हुंकार भरेंगे।यह जानकारी अखिल झारखंड छात्र संघ के प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह ने रांची स्थित आजसू पार्टी प्रधान कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कही।

आजसू पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता प्रो. विनय भरत ने कहा कि झारखंड के युवाओं को झामुमो गठबंधन की सरकार के तीन वर्षों के कार्यकाल में हक-अधिकार और नौकरियां मिलने के जगह, बस आश्वासन मिला। नियोजन नीति, रोजगार, बेरोजगारी भत्ता के नाम पर युवा ठगे गए। मुख्यमंत्री ने एक साल में 5 लाख नौकरियां देने का वादे किए थे, लेकिन 3 साल में महज साढ़े पांच सौ नियुक्तियां हुई हैं। युवाओं को नौकरी मिलने की बजाय, उनके हाथ से नियुक्तियां निकली जा रही हैं। अखबारों में वेकैंसी, परीक्षाओं की सूचनाएं आती हैं, लेकिन इनकी लचर नीतियों की वजह से सब धरी रह जाती हैं। उन्होंने कहा कि गरीब, किसान, मजदूर अपनी वर्तमान सामाजिक-आर्थिक परिस्थियों से जूझते हुए अपनी बहन-बेटियों को शिक्षा दिलाने में अपना सर्वस्व न्योछावर कर देते लेकिन अंततः उन्हें निराशा ही हाथ लगती है। अगर पीटी परीक्षा होती है, तो मेंस परीक्षा रद्द हो जाती और मेंस परीक्षा होती है, तो इंटरव्यू रद्द कर दिया जाता है। अगर सभी परीक्षाएं और इंटरव्यू संपन्न हो जाते हैं, तो सरकार की असंवैधानिक नीतियों के कारण न्यायालय पूरी परीक्षा को ही रद्द कर देती है।

ऐसे में झारखंड के युवाओं के समक्ष बस एक ही उपाय बचता है, सड़क और संघर्ष।इस अवसर पर आजसू पार्टी के केंद्रीय मुख्य प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत ने कहा कि सरकार ने स्थानीय नीति को नियोजन का आधार क्यों नहीं बनाया। हमने शुरू से इस विषय पर अपनी आवाज मुखर की है। नियोजन नीति को लेकर शुरु से ही सरकार की स्पष्ट मंशा नहीं है, इसलिए वह चीजों को और उलझाने का रास्ता प्रशस्त करती रही है। सरकार की असंवैधानिक नीतियों और राज्य के युवाओं की वर्तमान स्थिति एवं हालात को देखते हुए आजसू ने 12 जनवरी – स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर युवा आक्रोश मार्च निकालने का निर्णय लिया है, जिसका नेतृत्व पार्टी की सहयोगी इकाई अखिल झारखण्ड छात्र संघ करेगी।

आक्रोश मार्च को लेकर हुई बैठकयुवा आक्रोश मार्च को लेकर आज रांची स्थित आजसू पार्टी प्रधान कार्यालय में अखिल झारखंड छात्र संघ के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य रूप से डॉ. देवशरण भगत, गुंजल इकिर मुंडा, प्रो. विनय भरत, हरीश कुमार, गौतम सिंह, अब्दुल जब्बार, गदाधर महतो, नीरज वर्मा, ओम वर्मा, अरविंद महतो, संदीप साहू, चेतन प्रकाश, अनुराग भारद्वाज, अभिषेक झा, सूरज, प्रिंस, राहुल मिश्रा, राजकिशोर महतो, देवा महतो, विजय कुमार, धर्मराज प्रधान, तापस महतो, विराट, शेखर महतो, नीतीश निराला, आशुतोष कुमार, कैलाश महतो, मदन, बबलू, ज्योतिष, रोशन सेठ, संतोष तांती, कुंवर महतो, हिमांशु, नीतीश महतो, जानकी महतो, केशव पाठक, अभिषेक शुक्ला, अनुराग साहू, जमाल गद्दी, महावीर महतो, सचित कुमार आदि मौजूद रहें। बैठक में आगामी 12 जनवरी को आयोजित आक्रोश मार्च को सफल बनाने की रणनीति बनाई गई। छात्र संघ के पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

Related posts

मंत्री बन्ना गुप्ता के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वर्णरेखा आरती घाट के कार्यप्रगति को देख सीएम हेमंत सोरेन हुए प्रसन्न

administrator

दस सूत्री मांगों को लेकर अखिल झारखंड विस्थापित अधिकार मंच का अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन शुरू

admin

सरायकेला – खरसवां : मुख्यमंत्री के जोहार यात्रा के चलते सहाय खेल योजना का स्थान परिवर्तन

administrator

Leave a Comment