Image default
CrimeJharkhand

सर्च ऑपरेशन में पुलिस को मिली सफलता, जमीन के भीतर रखा सामानों से भरा बॉक्स बरामद

चाईबासा । सीआरपीएफ की 197 बटालियन एवं जिला पुलिस को नक्सल प्रभावित क्षेत्र में बड़ी सफलता हाथ लगी हैं। बताया जाता है कि नक्सल प्रभावित टोंटो थाना अन्तर्गत कोल्हान रिजर्व वन क्षेत्र के हुईसीपी गांव के समीप घने जंगल में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। सर्च अभियान के दौरान नक्सलियों द्वारा जमीन के अंदर एक बॉक्‍स में छुपा कर रखे गये अनेक समान बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि इस बॉक्स की पुलिस को गुप्त सूचना थी। नक्सलियों के खिलाफ चलाई जा रही सर्च आपरेशन का नेतृत्व द्वितीय कमान अधिकारी सह अभियान कमांडर परविंदर सिंह कर रहे हैं। वहीं, सीआरपीएफ -197 बटालियन की तीन अलग-अलग कंपनी के कमांडर उप कमांडेंट शंभू विश्वास, सहायक कमांडेंट सुरेन्द्र बेनीवाल तथा सहायक कमांडेंट नुपुर चक्रवर्ती के सहयोग से अभियान को चलाया जा रहा है।


बताया गया कि पुलिस को बॉक्स में कुछ किताबें भी हाथ लगी हैं। उनमें से एक नक्सली किताब में चाईबासा जेल ब्रेक कांड के दौरान मृत नक्‍सली का जिक्र है। इस संबंध में अभियान कमांडर परविन्दर सिंह ने बताया कि टोंटो थाना क्षेत्र के हुसिपी गांव के समीप सरगाडीह के जंगल में नक्सलियों के गतिविधियों की गुप्त सूचना मिली थी। नक्सली जंगल में कुछ समान छिपा कर रखे हैं। इसके बाद विशेष रणनीति के तहत सीआरपीएफ -197 बटालियन की तीन कंपनी के पदाधिकारियों के नेतृत्व में जंगल की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया गया। इसी क्रम में हुसिपी गांव के समीप जंगल की पहाड़ी पर जमीन के अंदर गाड़ा गया एक बॉक्स पाया गया। बॉक्‍स को सावधानी पूर्वक खोलने पर नक्सलियों की वर्दी, प्रशिक्षण हेतु हाथ से लिखे नोट्स, ट्रैक सूट, टॉर्च, दवाइयां और चश्मे इत्यादि समान बरामद हुआ। यह आशंका जताई जा रही है कि इस जगह नक्सलियों का कैम्प रहा होगा, जिसमें ये सामग्री प्रशिक्षण हेतु इस्तेमाल किया गया था।


वैसे तो सूत्रों की मानें तो तीन दिन पूर्व सर्च अभियान के दौरान एक बड़े नक्सली नेता की भी गिरफ्तारी हुई है। जिसके निशानदेही पर यह बक्सा बरामद किया गया है। लेकिन अभी तक इस खबर की पुष्टि जिला प्रशासन या सीआरपीएफ द्वारा नहीं की गई है।
बहरहाल झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ द्वारा चलाए जा रहे सर्च ऑपरेशन से काफी सफलता मिल रही हैं। आए दिन बड़े नक्सलियों के गिरफ्तार होने अथवा सरेंडर करने की खबरें आ रही हैं। इससे समाज में एक सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है और आम जनता भी जागरूक हो रही हैं। वहीं, पुलिस प्रशासन के प्रति आम जनता का विश्वास बढ़ रहा है।

Related posts

बंगाल के पुरुलिया लोस सीट पर आजसू की नजर, आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने ‘आजसू हेल्प सेंटर’ ऐप लॉन्च किया

admin

झारखंड : पूर्व मुख्यमंत्री मरांडी ने सीएम हेमंत सोरेन से कहा बदतर हो चुकी कानून व्यवस्था

admin

चांडिल : भूमिज समाज के जमीन पर अवैध कब्जा मामले को केंद्रीय जनजाति मंत्रालय ने लिया संज्ञान

admin

Leave a Comment